New Zealand से सेमीफइनल किन गलती से हारा भारत

0
Dhoni Ind vs NZ

New Zealand से सेमीफइनल किन गलतीयों से हारा भारत?
बारिश की वजह से ये मैच दो दिनों तक चला और अंत में इसका परिणाम आया, इसका परिणाम करोड़ो दिलो को तोड़ने वाला था. भारतीय टीम लड़ के ही सही लेकिन 18 रनो से ये मैच हार गई और New Zealand ने अपनी जगह world cup final में अपनी जगह पक्की कर ली. New Zealand ने पहले बैटिंग करते हुए भारत के सामने 239 का लक्ष्य रखा था लेकिन भारत 221 रन ही बना सका और अपनी इस world cup में कहानी ख़त्म कर ली.

अब मैच की कहानी

New Zealand की तरफ से सबसे पहले बैटिंग करने आये guptil और निकोलस. गुप्टिल को जसप्रीत बुमराह ने 1 रन के स्कोर पर आउट कर दिया, हालाँकि इसके बाद निकोलस और कप्तान कम विलियम्सन के बिच एक पार्टनरशिप जमी 19 वी ओवर में रविंद्र जडेजा ने इस पार्टनरशिप को तोड़ दिया. 28 रन पर खेल रहे निकोलस का विकेट लेकर अब क्रीच पर थे New Zealand के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी टेलर और विलियम्सन दोनों ने अपने कद के हिसाब से खेला भी भले थोड़ा धीमे पर टिके रहे. विलियम्सन 36 वे ओवर में रनो का स्पीड बढ़ने के चक्कर में चहल का शिकार हो गए. उन्होंने 95 गेंदों में 67 रन बनाये. जिमि निशाम और ग्रैंड होम भी कुछ खास नहीं कर सके. नीशम 12 रन बना कर पांड्या का शिकार हो गए और ग्रैंड होम 16 रन बना कर भुनेश्वर कुमार को अपना विकेट दे बैठे. टेलर अब भी जमे हुए थे फिर हो गई बारिश, 46 .1 ओवर में New Zealand 211 बना सका और अगले दिन मैच फिर यही से शुरू हुआ और New Zealand बची 23 गेंदों में 28 रन बना सका. टेलर ने 74 रन बांये 90 गेंदों में, रविंद्र जडेजा ने डायरेक्ट हिट करके उनको रन आउट कर दिया, लैथम भी 10 रन बना सके. कुल मिलाकर New Zealand ने 239 रन बना पाएं.
भुनेश्वर कुमार ने 10 ओवर में 43 रन देकर 3 विकेट लिए. चहल थोड़ा महंगे साबित हुए 10 ओवर में 63 रन दिए.

Ravindra jadeja chhakka, ravindra jadeja world cup semifinal

अब बरी थी भारतीय टीम की 240 रनो का टारगेट था, ये टारगेट भारत के बैटिंग के आगे बहुत छोटा लग रहा था. लेकिन सेमीफइनल का दबाव भी कोई चीज़ होती हैं. भारत की बैटिंग में सेमीफइनल का दबाव खूब देखने को मिला और भारत के world class batsman रोहित शर्मा, KL राहुल और भारतीय कप्तान विराट कोहली तीनो मात्र 1-1 रन पे आउट हो गए. रोहित और राहुल हेनरी का शिकार हुए और कोहली को बोल्ट ने LBW आउट कर दिया. भारत का स्कोर 4 ओवर में ही 5 रन पर 3 विकेट हो गया था. अब मैदान पर थे ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक, दिनेश कार्तिक ने 10 वें ओवर तक विकेट रोके मगर 10 वें ओवर की आखरी गेंद में हेनरी को अपना विकेट दे बैठे, निशिम ने तगड़ी कैच पकड़ी, अब आये हार्दिक पंड्या पंत और पंड्या ने कुछ देर तक पारी को संभाला और 23 ओवर तक पारी को खींच ले गएँ स्कोर 70 पार पंहुच गया था, लेकिन सेंटनेर के गेंद पर ऋषव पंत ने छक्का मारने के चक्कर में अपना बहुमूल्य विकेट गवां दिया केवल 32 रन ही team के खाते में जोड़ पाए. अब मैदान पर आये महेंद्र सिंह धोनी मगर 8 ओवर बाद हार्दिक भी ऋषव पंत की तरह छक्का मारने के कोशिश में आउट होकर चले गए पंड्या ने 32 रन बनाये 62 गेंदों में. अब धोनी का साथ देने आएं रविंद्र जडेजा और पारी को काफी हद तक संभाला जडेजा ने काफी अच्छी पारी खेली एक समय लगा की अब मैच भारत के हाँथ में हैं इस पारी में किसी के बल्ले से चौके नहीं निकल रहे थे लेकिन जडेजा ने छक्का मारकर अपना काबिलियत को दिखाया टीम को 17 ओवर में 124 रन चाहिए थे जडेजा के छके ने एक बार फिर लोगो की उम्मीद को जगा दिया.जडेजा और धोनी ने मैच को 48 वें ओवर तक खींच लाये. अब 18 गेंदों पर 37 रन चाहिए थे, मगर जडेजा 48 वें ओवर के 5 वें गेंद में बोल्ट का शिकार बने छके की जरुरत थी और मारने के चक्कर में आउट हो गए ये 77 रनो के यादगार पारी खेल गए. अब आखरी उम्मीद थे महेंद्र सिंह धोनी 12 गेंदों में 31 रन चाहिए थे मगर धोनी भी 49 वें ओवर के तीसरे गेंद में रन आउट हो गए, इंच भर का अंतर न होता तो शायद रिजल्ट कुछ और होता. धोनी 72 गेंदों में 50 रन बना कर आउट हो गए और भारत 49.3 ओवर में All Out हो गया. और New Zealand cricket world cup के फाइनल में पहुंच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 13 =