Beautiful real love story

0
Indian love story in hindi
Hindi love story

एक लड़का और लड़की दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे। दोनों अलग जाती के थें। एक दिन लड़की के भाई ने दोनों को बात करते हुए देख लिया। और पुलिस बुला कर लड़के को जेल भेज दिया। इस पर लड़के के परिवार वालों ने उसे जेल से बाहर निकाल के तो ले आए। उसके बाद आनन-फानन में उसकी शादी एक गांव की लड़की से करवा दी।
और कुछ दिन बाद ही उस लड़की की भी शादी हो गई। और वो चली गई। लड़के को उसकी पत्नी बिल्कुल भी पसंद नहीं थी। फिर भी वो क्या करता। अब तो बस निभाना ही था।बस ऐसे ही कट रही थी। लड़के ने शराब पीना शुरू कर दिया। प्रतिदिन शराब के नशे में चूर घर आता और पत्नी के साथ बत्तमीजी करता। माता पिता कुछ कहते तो उसने भी लड़ता। कुछ दिन बाद पत्नी प्रेगनेंट हो गई। और वो लड़का भी बारहवीं की परीक्षा पास कर के आगे की पढ़ाई करने शहर चला जाता है। इसी बीच एक बेटा हुआ उसे । कालेज में तो शराब नहीं पीता।लेकिन घर आता तो दोस्तों के साथ पीना शुरू रहा। अब उसकी पत्नी को बच्चा सम्हालने के साथ घर के सारे काम करने में दिक्कत होने लगी।फिर भी वो सब करती। इस आस में की कभी तो उसका पति उसे प्यार करेगा।
कुछ दिन बाद फिर दुसरा बच्चा हुआ। अब लड़के में थोरा बदलाव आने लगा था। घर आता तो पत्नी से ठीक से बात करने लगा।  अब घर वापस आ गया। और वही आगे की पढ़ाई करने लगा। दो बच्चों के बाद पत्नी का ओप्रेशन करवा दिया गया ताकि अब ज्यादा बच्चें न हो सके। लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। पत्नी ओप्रेशन के पहले ही प्रेगनेंट थी। नौ महीने बाद एक बेटी का जन्म हुआ। जो उस लड़के की आंखों का तारा बन गई। और उस लड़के की जिंदगी में बदलाव आने लगा। अब वो अपनी पत्नी को भी पसंद करने लगा। अब दोनों में प्यार भी पनपने लगा।
वो लड़का अब नौकरी करने लगा। और अपनी बेटी को हर खुशी देता है। जब बेटी स्कूल जाती तो वो खुद उसे पहुंचाने जाता। और लाने भी खुद ही जाता। चाहे कितना भी बीजी हो। और रास्ते में बेटी जो भी कहती लेके देता। बेटी भी उसे उतना ही प्यार करती। और पिता जो कहता वो करती।
एक दिन बेटी की तबीयत बहुत ज्यादा खराब हो जाती है। पिता बहुत परेशान था। क‌ई डौक्टर के पास जाता है। लेकिन बेटी ठीक नहीं हो पाती। क‌ई बाबाओं के पास भी जाता है। फिर भी बेटी ठीक नहीं हो पाती है। अब तो रिश्तेदार भी बेटी को देखने आने लगे। एक रिश्तेदार ने बताया कि देवी मां से मन्नत मांगो बिटिया बिल्कुल ठीक हो जाएगी। उसी तरह सबने कुछ – कुछ हिदायतें दी वो आदमी तो नहीं माना मगर उसकी औरत ने देवी मां से मन्नत मांगी। बेटी ठीक हो जाएगी तो नवरात्र की पुजा करूंगी। मां का चमत्कार बेटी ठीक होने लगी। अब तो उस आदमी को भी देवी मां पर बिस्वाश हो गया।
अब पती – पत्नी दोनों नवरात्र की पुजा करने लगे। और पति-पत्नी में भी प्यार बढ़ने लगा। एक खुशहाल जीवन बिताने लगे वो लोग।
लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। सभी बाहर जा रहे थे घूमने।कि अचानक गारी का एक्सीडेंट हो जाता है। जिसमें पत्नी और बरे बेटे की मौत हो जाती है। घर में मातम छा जाता है।
कुछ दिन तक तो सब उदास रहते। फिर धीरे धीरे सब नौर्मल होता है। और सब अपने अपने काम में लग जाते हैं। पति अपने काम पर और बच्चे स्कूल। उस आदमी को घर के काम और अपनी ड्यूटी दोनों सम्भालने में परेशानी होने लगी। अब वो क्या करे कुछ समझ नहीं आ रहा था। कई दोस्तों और रिश्तेदारों से इस बारे में बात की उसने। कुछ ने दुसरी शादी की सलाह दी तो कुछ ने  दाई रखने की और कुछ ने बच्चों को बोर्डींग स्कूल में डालने की। बहुत सोच विचार करने के बाद उसने अपने बच्चों को बोर्डींग स्कूल में डालने का फैसला किया। अब वो हर रविवार को अपने बच्चों से मिलने जाता है। और बाहर घूमने ले जाया करता। और जो भी जरूरत की वस्तुएं होती लेके देता।
बच्चें अब बरे हो ग‌ए।  पढ़ाई खत्म करके घर आ जाते हैं। सब हसी खुशी रहते हैं। बेटा और बेटी दोनों मिलकर एक अच्छा होटल खोलते हैं। होटल अच्छा चलता है। इसी बीच बेटी के लिए एक रिश्ता आता है। लड़का खुबसूरत और अमीर था। सबको पसंद आया और शादी हो गई। लड़की अपने ससुराल चली गई।
बहन के जाने से भाई अकेला  पर गया। उसने होटल मैनेजमेंट किया था। कुकिंग और सर्विसेज तो बहन ही सम्भालती थी। सो बहन के जाने से बहुत परेशानी होने लगी। ग्राहक भी कमने लगे। उसी समय एक लड़की नौकरी ढूंढते हुए उसी होटल में आ जाती है। उसके पढ़ाई लिखाई के जितने सर्टिफिकेट थे। और पुछ ताछ करने पे उसके टैलेंट को देखते हुए उसे मैनेजर की नौकरी दे दिया गया। उस लड़की ने भी उस लड़के की बहन की तरह ही सब आसानी से सम्भाल लिया। और जल्दी ही सब कुछ पहले जैसा ही होगया। काम के लिए एक दुसरे से मिलना-जुलना और बातें होना तो आम बात हो ही गई थी। बातें मुलाकातें होते-होते दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगते हैं। एक दिन लड़का उस लड़की से अपने दिल की बात कह देता है। लड़की भी उसे पसंद तो करती ही थी। उसने भी हां कर दी।
कुछ दिन बाद बहन घर आती है। तो भाई के साथ होटल जाती है। वहां उसे भाई के प्रेम के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। और वो घर आकर अपने पिता से कहती हैं। तो पिता उस लड़की के घर जाकर उसके माता-पिता से बात करता हैं। लड़की के घर वाले  भी मान जाते हैं।
दोनों की शादी हो जाती है। और दोनों पति-पत्नी मिलकर होटल के काम काज करते हैं। बहु के घर आने से पिता को भी बेटी कमी खलना बंद हो गया। और एक खुशहाल जीवन बिताने लगे सब।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 3 =